बैकफुट पर शिवसेना, अयोध्या में उद्धव की सभा कैंसल, अब सिर्फ संतों का आशीर्वाद लेंगे

अयोध्या में 25 नवंबर को शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की होने वाली सभा रद्द कर दी गई है। प्रशासन को भेजे गए कार्यक्रमों के ब्यौरे में भी सभा का उल्लेख नहीं है। जानकारों की मानें तो ऐसा सीएम योगी से मुलाकात व विहिप की धर्मसभा को लेकर किया गया है। शिवसेना प्रवक्ता व सांसद संजय राउत ने भी साफ करते हुए कहा कि, उद्धव ठाकरे 24 नवंबर को संतों से मुलाकात करेंगे और सरयू आरती में शामिल होंगे। वहीं, 25 नवंबर को मंदिर-मस्जिद पक्षकारों से मुलाकात हो सकती है।

हालांकि दो दिवसीय कार्यक्रम को लेकर बुधवार को लक्ष्मण किला के मैदान में आचार्य-पुरोहितों ने विधि विधान से भूमि पूजन कराया। कार्यक्रम संयोजक संजय राउत, विनायक राउत, राजेंद्र, एकनाथ शिंदे ने भूमि पूजन किया।

राउत ने कहा कि मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से सौहार्दपूर्ण भेंट हुई है। शिवसेना के कार्यक्रम को लेकर सीएम को आश्वस्त किया है कि किसी प्रकार के लॉ एंड आर्डर की समस्या नहीं होगी। सारे कार्यक्रम शांति पूर्ण माहौल में होगें। विहिप की धर्म सभा को लेकर कोई टकराव का सवाल ही नहीं पैदा होता है। सभी हिंदू संगठन हैं, सबका मकसद राम मंदिर के निर्माण का ही है।

कहा कि इकबाल अंसारी व किसी अन्य मुस्लिमों को घबराने की जरुरत नहीं है। उनकी सुरक्षा को कोई खतरा नहीं है। प्रदेश सरकार अयोध्या की सुरक्षा को लेकर पूरी तरह से सक्रिय है।

कार्यक्रम संयोजक अमर नाथ ने बताया कि 24 नवंबर को उद्धव ठाकरे अपने परिवार के साथ अयोध्या पहुंचेगे। लक्ष्मण किला मैदान पर अयोध्या के संतो आचार्यों का पूजन करेंगे। शाम को छह बजे आरती में सम्मिलित होंगे। अगले दिन राम लला के दर्शन करेंगे। भूमि पूजन में लक्ष्मण किला के महंत मैथिली रमण शरण सहित अयोध्या के लगभग एक दर्जन आचार्य शामिल हुए।

0521_ayodh_1.jpg

Leave a Reply

Close Menu
Social media & sharing icons powered by UltimatelySocial