उत्तर प्रदेश: नाबालिग से रेप करने के आरोप में युवक को 7 साल की सजा

मुजफ्फरनगर की एक विशेष पॉक्सो अदालत ने बुधवार को एक आरोपी को नाबालिग बच्ची से रेप (Rape of Minor Girl) करने के आरोप में 7 साल की सजा सुनाई. रेप (Rape) का यह मामला 2014 का है. आरोपी की पहचान वीरेंद्र कुामर के रूप में की गई है.अतिरिक्त जिला न्यायाधीश राम सुध सिंह ने अपने फैसले में कहा कि वीरेन्द्र कुमार को धारा 363 (अपहरण), 376 (Rape) और पॉक्सो अधिनियम (Pocso Act) के तहत दोषी पाया गया है. इतना ही नहीं कोर्ट ने कुमार पर 30,000 रुपये का जुर्माना भी लगाया और इस राशि को पीड़िता को दिए जाने का आदेश भी दिया. अभियोजन पक्ष के वकील पुष्पेंद्र मलिक ने बताया कि सात जुलाई 2014 को कुमार ने बसयेत गांव स्थित पीड़िता के घर से उसका अपहरण कर उसके साथ बलात्कार किया था.

गौरतलब है कि बीते कुछ समय से देश की अलग-अलग अदालतों ने नाबालिग बच्चियों से रेप के मामले में त्वरित आदेश देते हुए अपराधियों को सजा सुनाई है. ऐसा ही एक मामला तमिलनाडु का है, जहां की एक महिला अदालत ने 2016 में एक बच्ची से बलात्कार के जुर्म में 59 वर्षीय किसान को 10 साल जेल की सजा सुनाई थी. न्यायाधीश एन विजयकांत ने 12 वर्षीय बच्ची का अपहरण करने के जुर्म में शिवप्रकाशम को सात साल जेल की भी सजा सुनाई. अदालत ने कहा कि दोषी की दोनों सजा साथ-साथ चलेगी.

न्यायाधीश ने बच्ची से बलात्कार एवं उसका अपहरण करने के दोषी शिवप्रकाशम पर 10,000 रुपये का जुर्माना भी लगाया है. अभियोजन पक्ष के अनुसार घटना वर्ष 2016 की है. आरोपी शिवप्रकाशम अपने घर के सामने खेल रही बच्ची को चॉकलेट का लालच देकर अरियलूर जमीन के निकट सुनसान जगह पर ले गया और उसके साथ बलात्कार किया. बाद में उसने बच्ची को घटनास्थल पर ही छोड़ दिया.

court-generic_625x300_1527245477936.jpg

Leave a Reply

Close Menu