ब्रिटेन कोर्ट से माल्या को बड़ा झटका, भारतीय बैंकों को 1 करोड़ 80 लाख हर्जाना देने के आदेश

भारत से भगोड़ा घोषित हुए बिजनेसमैन विजय माल्या को बड़ा झटका लगा है। ब्रिटेन की एक अदालत ने विजय माल्या को इंडियन बैंकों के पैसे वापस लौटाने के आदेश दिए है। जो कि 2 लाख पाउंड यानि करीब 1.80 करोड़ रूपए है। ब्रिटेन कोर्ट के जज एंड्रयू हेनशॉ ने पिछले महीने माल्या की प्रॉपर्टी को कुर्क करने के एक विश्वव्यापी आदेश को पलटने से इनकार कर दिया था। उन्होंने भारतीय बैंकों के समूह का माल्या से करीब 1.145 अरब पौंड की वसूली को सही ठहराया था।

क्या है कोर्ट का आदेश

कोर्ट ने आदेश दिया है कि विजय माल्या उसके खिलाफ लड़ाई लड़ रहे बैंकों को पैसा लौटाए। किसी एक रकम पर दोनों पक्ष सहमत हों। या फिर कोर्ट बैंकों की ओर से कानूनी प्रोसेस में खर्च की गए पैसों का आंकलन करे। अगर कोर्ट पैसों का आंकलन करता है तो उसकी अपनी एक अलग प्रोसेस है, जो कि अदालती सुनवाई के साथ पूरी होगी। लेकिन इस बीच भी माल्या को कानूनी खर्च के तौर पर करीब 2 लाख पाउंड का भुगतान तो करना ही होगा।

माल्या के खिलाफ 13 बैंक लड़ रहे कानूनी लड़ाई

माल्या के खिलाफ स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ बड़ोदा, IDBI बैंक, कॉर्पोरेशन बैंक, फेडरल बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक, जम्मू-कश्मीर बैंक, पंजाब एंड सिंध बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, स्टेट बैंक ऑफ मैसूर, यूको बैंक, यूनाईटेड बैंक ऑफ इंडिया और जेएम फिनांशल एसेट रिकंस्ट्रक्शन शामिल हैं।

माल्या पर है 9 हजार करोड़ का कर्ज

भारत से भागे माल्या पर भारतीय बैंकों का करीब 9 हजार करोड़ का कर्जा है। इसके अलावा माल्या भारत प्रत्यर्पित किए जाने के खिलाफ भी केस लड़ रहा है। बीते साल प्रत्यर्पण के वारंट पर माल्या की गिरफ्तारी हुई थी। जिसके बाद से वो बेल पर है।

इस एक गलती से बर्बाद हो गया माल्या का एंपायर

विजय माल्या ने साल 2005 में किंगफिशर एयरलाइंस की शुरुआत की थी। जिसके बाद माल्या ने साल 2007 में देश की पहली लो कॉस्ट एविशन कंपनी एयर डेक्कन को टेकओवर कर लिया। और यही उनकी सबसे बड़ी गलती थी। इसके लिए माल्या ने 1200 करोड़ खर्च किए। लेकिन इस डील में उन्हें भारी नुकसान उठाना पड़ा।

Leave a Reply

Close Menu